टीम

पिछले चार वर्षों में, ट्रस्ट ने 76 प्रतिबद्ध और समर्पित सदस्यों की एक टीम का निर्माण किया है, जिसमें कार्यक्रम प्रबंधक, समन्वयक, देखभाल कार्यकर्ता और केयर टेकर शामिल हैं, जो सबसे अधिक जरूरतमंदों तक पहुंचते हैं I वृंदावन और राधाकुंड क्षेत्रों में रहने वाले एकल, निराश्रित और विधवा बुजुर्गों को ट्रस्ट के व्यापक प्रकार के आवश्यक सामुदायिक सहायता सेवाओं को और घर-आधारित देखभाल के जरिये पहुचाई गइ है।

हमारे प्रबन्धक

जयिता चक्रवर्ती, कार्यक्रम निदेशक

जयिता 2013 से आनंद संघ से जुड़ी हुई हैं। ये एक पेशेवर क्रियाबन हैं और एक प्रमाणित ध्यान और हीलिंग शिक्षक हैं। इन्होंने गुड़गांव में आनंद संघ केंद्र का सफलतापूर्वक प्रबंधन किया है और विभिन्न सेवा विभागों और टीमों को प्रशिक्षण देने और एक साथ लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

इन्होने समाजशास्त्र में परास्नातक की उपाधि हासिल की है और वह आतिथ्य उद्योग में 22 से अधिक वर्षों के अनुभव के साथ भर्ती और प्रशिक्षण में विशेषज्ञता प्राप्त मानव संसाधन सलाहकार रही हैं। इनको चीन में एसओएस इंटरनेशनल क्लिनिक, में प्रशिक्षण का अनुभव एवं थाईलैंड और मालदीव में प्रशिक्षण इकाइयों की स्थापना का अनुभव है। । इन्होने न केवल आतिथ्य और कॉर्पोरेट (आईटी और गैर आईटी) के लिए, बल्कि विभिन्न आयु वर्ग के छात्रों के लिए अभिनव शिक्षण और विकास परियोजनाओं को डिजाइन और वितरित किया है।

श्री अमलान दासगुप्ता – हेड ऑपरेशन

अमलान दासगुप्ता एफएमसीजी सेक्टर में सेल्स एंड मार्केटिंग क्षेत्र में एक दिग्गज हैं। उनके पास बाजार की रणनीतिक स्थिति, बिक्री योजना, बाजार विस्तार और संबंध प्रबंधन के क्षेत्र में लगभग 29 वर्षों का समृद्ध अनुभव है। उन्होंने अल्केम लेबोरेटरीज लिमिटेड, बजाज कॉर्प लिमिटेड, डुरासेल और डाबर इंडिया लिमिटेड में नेशनल और जोनल पदों पर काम किया है। उनकी विशेषज्ञता सफल व्यापार वार्ता, टीम निर्माण और संगठनात्मक नेतृत्व करने के क्षेत्रों में है।

ये क्रिया योग के अभ्यासी हैं और पिछले 10 वर्षों से ध्यान कर रहे हैं। इनका मनभावन व्यक्तित्व और गतिशील आभा सभी को मंत्रमुग्ध कर देती है। वह सेवा और साधना के प्रति आस्थावान हैं और अब ट्रस्ट में संचालन प्रमुख के रूप में कार्य करते हैं।

श्री राजेश कुमार पाण्डेय – कार्यक्रम अधिकारी

परिणाम प्रबंधन, कार्यक्रम प्रबंधन, कार्यक्रम ढांचा , कार्यक्रम कार्यान्वयन, अनुसंधान और विश्लेषण देने में सफल ट्रैक रिकॉर्ड के 20 से अधिक वर्षों के अनुभव के साथ साथ मानव संसाधन क्षमताओं के साथ सामाजिक विकास पेशेवर है । इनके पास एनजीओ से लेकर उद्योगों, शैक्षणिक और अनुसंधान संस्थानों (आईआईएम लखनऊ), गिरी इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंटल स्टडीज आदि में विविध क्षेत्रों में कार्य का उच्च अनुभव है। ये संरचित, स्पष्ट और जटिल लोगो के साथ-प्रभावी ढंग से काम करते हैं। इनके पास टीम का नेतृत्व करने के सक्षम काबिलियत है, और प्रभावी रूप से आंतरिक और साथ ही बाहरी हितधारकों का प्रबंधन करते है ।

श्रीमती रमा शर्मा – केयर होम प्रबन्धक

ये दो किशोर बच्चों की एक माँ है , ट्रस्ट के साथ केयर होम समन्वयक के रूप में कार्य शुरू किया था । ये माता के साथ एक बेटी है, एक दोस्त है स्वयं दयालु और करुना स्वभाव की है। इन्होने प्रभावी रूप से गौरा नगर केयर होम की देखभाल की और कई बढती उम्र की सक्रिय गतिविधियों को लागू किया।

श्रीमती तृप्ती पाण्डेय – मानव संशाधन

तृप्ती, एक पोस्ट ग्रेजुएट हेल्थ एजुकेशन पेशेवर है जो समग्र कल्याण पर एक परामर्शदाता, आहार विशेषज्ञ और योग प्रशिक्षक के रूप में 20 वर्षों का अनुभव रखती है। इन्होने एड्स कंट्रोल सोसाइटी, बीबीसी वर्ल्ड सर्विस ट्रस्ट, आईपास , चंद्रा मेडिकल कॉलेज, शैक्षणिक संसाधन समूह, केंद्रीय विद्यालय संगठनों आदि जैसे प्रसिद्ध संगठनों के साथ काम किया है, इनको सामुदायिक स्वास्थ्य, अस्पताल प्रशासन, कार्यालय प्रशासन, संगठनात्मक विकास और एक विविध समूह में जटिलता प्रबंधन का जमीनी अनुभव है ।

श्रीमती आशा शर्मा - प्रबन्धक –सामुदायिक देखभाल

आशा एक वर्ष के एक उर्जावान लड़के की नई माँ है और इसलिए बेहद ऊर्जावान है। उसने बहुत कम उम्र में वृंदावन के समुदाय में सेवा शुरू कर दी थी। ये कई भारतीय भाषाओं को जानती है। आशा ने वृंदावन में आयुर्वेद विभाग, बांकेबिहारी मंदिर की सुरक्षा सेवाओं में कई वर्षों तक काम किया है और 2014 से ट्रस्ट में बहुत कुशलता से सेवा कर रही हैं।

श्री जय कुमार - सहायक प्रबन्धक -ऑपरेशन

जय एक कंप्यूटर साइंस ग्रेजुएट है और उसने कई वर्षों तक अपने परिवार के व्यवसाय का प्रबन्धन किया है। वह एक सक्रिय खिलाड़ी है, यात्रा करना पसंद करता है और प्रदर्शन कला में रुचि रखता है। जय एक गो गेटर्स और तेजी से सीखने वाला शख्स है और "नहीं" शब्द उसके शब्दकोश में नहीं है। ये उत्कृष्ट टीम प्लेयर हैं और ट्रस्ट के लिए बहुत मूल्य और उपयोगी है ।

कार्यकर्ता

हमारे अथक और परिश्रमी कर्मचारियों ने हमें अपने अभिप्राय तक पहुँचने में मदद की है। ये लोग बिना टोपी के नायक हैं! ये हमारे पंखों के नीचे की हवा हैं।

मुख्य कार्यकर्ता